वैलेंटाइन्स डे स्पेशल........

आने वाला है प्यार और इज़हार का दिन ! इस दिन प्यार के परवाने , अपने एक दूसरे को गिफ्ट देते हैं और अपने अपने इमोशंस  को व्यक्त करते हैं ! कुछ लोग अपने पार्टनर  के लिए कुछ  स्पेशल भी प्लान करते हैं !


valentines day 2019
valentines day 2019


और तो और इस दिन का इंतज़ार ऐसे लोग भी करते है जिसके दिल में कोई छुपा होता है लेकिन उसे बता नहीं पता लेकिन इस दिन वे बिना कुछ सोचे कुछ स्पेशल प्लान कर उसे परपोज कर ही देते हैं ! एक लाइन में कहे तो इस दिन का इंतज़ार हर प्यार के परवाने करते हैं , जिसे हम वैलेंटाइन डे भी कहते हैं ! लेकिन क्या आपने कभी सोचा है , कैसे वैलेंटाइन्स डे शुरू हुआ , और 14 फ़रवरी को ही क्यों ??




किसने की थी इसकी शुरुआत

 ऐसा माना जाता है कि वेलेंटाइन-डे मूल रूप से संत वेलेंटाइन के नाम पर रखा गया है। परंतु सैंट वेलेंटाइन के विषय में ऐतिहासिक तौर पर विभिन्न मत हैं और कुछ भी सटीक जानकारी नहीं है। 1969 में कैथोलिक चर्च ने कुल ग्यारह सेंट वेलेंटाइन के होने की पुष्टि की और 14 फरवरी को उनके सम्मान में पर्व मनाने की घोषणा की। इनमें सबसे महत्वपूर्ण वेलेंटाइन रोम के सेंट वेलेंटाइन माने जाते हैं।1260 में संकलित की गई 'ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वॉराजिन' नामक पुस्तक में सेंट वेलेंटाइन का वर्णन मिलता है।



14  फ़रवरी को ही क्यों मानते है वैलेंटाइन्स डे !

" ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वॉराजिन " अनुसार रोम में तीसरी शताब्दी में सम्राट क्लॉडियस का शासन था। उसके अनुसार विवाह करने से पुरुषों की शक्ति और बुद्धि कम होती है। उसने आज्ञा जारी की कि उसका कोई सैनिक या अधिकारी विवाह नहीं करेगा। संत वेलेंटाइन ने इस क्रूर आदेश का विरोध किया।उन्हीं के आह्वान पर अनेक सैनिकों और अधिकारियों ने विवाह किए। आखिर क्लॉडियस ने 14 फरवरी सन् 269 को संत वेलेंटाइन को फांसी पर चढ़वा दिया। तब से उनकी स्मृति में प्रेम दिवस मनाया जाता है।कहा जाता है कि सेंट वेलेंटाइन ने अपनी मृत्यु के समय जेलर की नेत्रहीन बेटी जैकोबस को नेत्रदान किया व जेकोबस को एक पत्र लिखा, जिसमें अंत में उन्होंने लिखा था 'तुम्हारा वेलेंटाइन'। यह दिन था 14 फरवरी, जिसे बाद में इस संत के नाम से मनाया जाने लगा और वेलेंटाइन-डे के बहाने पूरे विश्व में निःस्वार्थ प्रेम का संदेश फैलाया जाता है।


हर देश मे अलग अलग नाम हैं 

 जहां चीन के लिए यह दिन 'नाइट्स ऑफ सेवेन्स' के नाम से प्यार में डूबे दिलों के लिए खास होता है, वहीं जापान व कोरिया में इस पर्व को 'वाइट डे' भी कहा जाता है। इतना ही नहीं, इन देशों में इस दिन से पूरे एक महीने तक लोग अपने प्यार का इजहार करते हैं और एक-दूसरे को तोहफे व फूल देकर अपनी भावनाओं का इजहार करते हैं।इस पर्व पर पश्चिमी देशों में पारंपरिक रूप से इस पर्व को मनाने के लिए 'वेलेंटाइन-डे' नाम से प्रेम-पत्रों का आदान प्रदान तो किया जाता है ही, साथ में दिल, क्यूपिड, फूलों आदि प्रेम के चिन्हों को उपहार स्वरूप देकर अपनी भावनाओं को भी इजहार किया जाता है। 19वीं सदीं में अमेरिका ने इस दिन पर अधिकारिक तौर पर अवकाश घोषित कर दिया था।यू.एस ग्रीटिंग कार्ड के अनुमान के अनुसार पूरे विश्व में प्रति वर्ष करीब एक बिलियन वेलेंटाइन्स एक-दूसरे को कार्ड भेजते हैं, जो क्रिसमस के बाद दूसरे स्थान सबसे अधिक कार्ड के विक्रय वाला पर्व माना जाता है।



Best Love Status For Lovers


आंसू के बदले ख़ुशी क्या दोंगे, काटों के बदले खूबसूरत फूल क्या दोंगे, हम तो आपसे जीवनभर का साथ चाहते है, हमारा इस सवाल का जवाब क्या दोंगे ?

मेरे चेहरे की हंसी हो तुम, मेरे दिल की हर ख़ुशी हो तुम, मेरे होठों की मुस्कान हो तुम, धड़कता है मेरा ये दिल जिसके लिए वो मेरी जान हो तुम…!

एक बार मुस्कुरा के कह दो हम से प्यार है तुमको, एक बार ये बता दो के हमारा इन्तजार है तुमको, जिन्दगी भर करेंगे आपसे ही हम उलफत बस, कहो की हमारी इस बात का इतबार है तुमको…!

ये मेरी मोहब्बत थी की दीवानगी की इंतिहा, तेरे करीब से गुजर गया तेरे ही ख़यालो में!!

भरी महफ़िल मे मोहब्बत का ‪‎जिक्र‬ हुआ, हमने, सिर्फ़ आप‬ की ओर देखा और लोग ‪‎वाह‬-वाह कहने उठे!!



Conclusion

तो दोस्तों शायद अब  आप जान गए होंगे की "14  फ़रवरी को ही क्यों मनाया जाता है वैलेंटाइन डे " अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजियेगा !