दूनियाभर में आजकल ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की चर्चा हो रही है और क्यों न हों । आम लोगों के लिए ये एक अनसुलझा रहस्य हो सकता है लेकिन आने वाले समय में इसका सबसे ज्यादा असर आम लोगों पर ही पड़ेगा।




Block Chain Kya Hain Hindi Me
Block Chain Kya Hain Hindi Me


इसलिए हम आज आम लोगों की नजर से आपको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology) के बारे में बताते हैं। आपने क्रिप्टोकरेंसी और बिटकॉयन (Bitcoin) के बारे में तो सुना ही होगा। ये पिछले 2 साल से दुनिया भर के शेयर मार्किट के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल ब्लॉकचेन, बिटकॉयन में इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी है, लेकिन यह क्रिप्टोकरंसियों से अलग है। एक सुरक्षित डिजिटल लेनदेन सिस्टम का निर्माण करने में कई तरह से इसका इस्तेमाल होता है। भारत की भी इस टेक्नोलॉजी पर नजर है



क्या हैं ब्लॉक-चेन तकनीकी

ब्लॉकचेन भविष्य की एक विशेष तकनीक है। ये ऐसी प्रौद्योगिकी है जो एक सुरक्षित एवं आसानी से सुलभ नेटवर्क पर लेन -देनों का एक विकेंद्रीकृत डाटाबेस तैयार करती है। लेन-देन के इस साझा रिकॉर्ड को नेटवर्क पर स्थित कोई भी व्यक्ति देख सकता है। वास्तव में ब्लॉकचेन डाटा ब्लॉकों की एक श्रृंखला होती है तथा प्रत्येक ब्लॉक में लेन-देन का एक समूह समाविष्ट होता है। ये ब्लॉक एक-दूसरे से इलेक्ट्रॉनिक रूप से जुड़े होते हैं तथा इन्हें कूट-लेखन के माध्यम से सुरक्षा प्रदान की जाती है।




किसने ब्लॉक-चैन को किया invent

Blockchain Technology को सन 2008 में invent Satoshi Nakamoto ने किया था ताकि वो इसे cryptocurrency bitcoin में, उसके public transaction ledger के हिसाब से कर सकें. ये सब करने क पीछे Satoshi Nakamoto का मुख्या उद्देश्य था की वे एक decentralized Bitcoin ledger—the blockchain— बनाना चाहते थे जो की लोगों को उनके पैसों को control करने की क्ष्य्मता देता है जिससे की कोई भी third party, या कोई भी government, भी इन पैसों को access या monitor नहीं कर सके.

Bitcoin का creator जो की हैं Satoshi, अचानक ही गायब हो जाते हैं सन 2011 में, और उनके पीछे इस open source software को छोड़ जाते हैं जिसे की Bitcoin users इस्तमाल करें और उसे update और improve करें. बहुतों का मानना है की ये Satoshi Nakamota नाम का कोई व्यक्ति ही नहीं है ये बस ये काल्पनिक character है. वैसे इस बात की सत्यता को लेकर किसी के पास भी सही सही जानकारी उपलब्ध नहीं है.




Bitcoin के लिए blockchain का invention एक ऐसा पहला digital currency जो की double spending problem को हल कर सकता है बिना किसी trusted central authority या central server के मदद के.
इसलिए ये Blockchain Technology बहुत सारे दुसरे application का inspiration भी रहा है.

क्या क्लॉक-चेन एक सुरक्षित जरिया हैं

ऐसे तो internet में कोई भी चीज़ secure नहीं है. वहीँ अगर हम Blockchain technology की बात करें तब बाकि technology की तुलना में बहुत हद तक “unhackable” है. Blockchain में कोई भी transaction करने के लिए पुरे network के सभी nodes को agree होना पड़ेगा, तभी जाकर वो transaction valid होगी. यहाँ कोई single entity ये नहीं कह सकती की transaction हुआ है या नहीं. इसे hack करने के लिए आपको bank के जैसे केवल एक system को hack करने से नहीं होगा बल्कि पुरे network में स्तिथ सभी systems को hack करना होगा, इसलिए hacking इतनी आसान चीज़ नहीं है इस technology में.


कैसे ब्लॉकचैन हमे करेगा प्रभावित ?

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने पर यह लेनदेनों (Transaction) को काफी हद तक भेद्यता से बचाता है जो सिस्टम को साइबर की चपेट में ला देता है और लेनदेन सम्बन्धी डेटा में फेरबदल कर देता है। इसके अलावा, सुरक्षा में वृद्धि होने के साथ, यह टेक्नोलॉजी, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के खर्च को भी कम कर देती है। मुख्य रूप से इन कारकों के कारण ही बैंक अपने भावी लेनदेन के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना चाहते हैं। तो चलिए इस ब्लॉकचेन से होने वाले फायदों में से कुछ पर नज़र डालते हैं।
  1. Online Froding में आएगी कमी - इस टेक्नोलॉजी में, ब्लॉकों की एक श्रृंखला होती है जो डेटा को रिकॉर्ड करती है और इन ब्लॉकों को एक नेटवर्क के भीतर हितधारकों के साथ गुमनाम तरीके से शेयर किया जाता है। सभी लेनदेन सम्बन्धी डेटा को नेटवर्क के प्रत्येक हितधारक के साथ सत्यापित किया जाता है जिससे साइबर सम्बन्धी खतरों के कारण पैदा होने वाली भेद्यता की गुंजाइश ख़त्म हो जाती है। इसलिए ग्राहक की जानकारी चुराना लगभग असंभव हो जाता है। इस सिस्टम में होने वाला लेनदेन किसी बिचौलिए के हस्तक्षेप के बिना दो पक्षों के बीच होता है।
  2. बैंकों की कार्यक्षमता बढ़ेगी- यह टेक्नोलॉजी, पक्षों के बीच सहभाजित बहीखाते के माध्यम से बैंकों की कार्यकुशलता में वृद्धि कर सकती है। इस सिस्टम के डिवाइस, सहकर्मी-दर-सहकर्मी ढंग से इंटरैक्ट कर सकते हैं जिसके लिए किसी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं पड़ती है। यह मानव कारक को बैंकिंग सिस्टम की छानबीन से बाहर रखता है जिससे लेनदेनों पर नजर रखना आसान और तेज हो जाता है। इससे बैंकों के कई ऊपरी खर्च भी काफी हद तक कम हो जाएंगे जिससे पूरा का पूरा सिस्टम अधिक से अधिक कार्यकुशल बन जाएगा।
  3. डाटा के सिक्योरिटी बढ़ेगी - बैंकों का मौजूदा केंद्रीकृत आई.टी. इंफ्रास्ट्रक्चर, ग्राहकों के डेटा की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है। फिशिंग, हैकिंग, स्पूफिंग ये सब बैंकों के सामने आने वाली कुछ साइबर सुरक्षा सम्बन्धी चुनौतियाँ हैं। असल में, KYC दस्तावेजों को संग्रह करना, प्रमाणीकरण, इत्यादि जैसी अति संवेदनशील प्रक्रियाओं से निपटने में बैंकों और वित्तीय संस्थानों की मदद करने के लिए एक तीसरे पक्ष का सेवा प्रदाता शामिल होता है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने से, पासवर्ड का इस्तेमाल करके लेनदेनों के प्रमाणीकरण की जरूरत ख़त्म हो जाएगी। नेटवर्क का विकेंद्रीकरण करने से, ब्लॉकचेन-आधारित SSL प्रमाणपत्रों के माध्यम से पक्षों की आम सहमति प्राप्त करने में मदद मिलेगी। सभी डेटा को पूरे नेटवर्क में रिकॉर्ड किया जाएगा और एक नेटवर्क के पिछले ब्लॉक को ओवरराईट नहीं किया जा सकता। इसलिए, सुरक्षा का उल्लंघन करने के लिए और एक अकेले लेनदेन का डेटा चुराने के लिए, ब्लॉक के पूरे क्रम को फिर से सेट करना पड़ेगा जिससे किसी के लिए इसका उल्लंघन करना लगभग असंभव हो जाएगा।
  4. एक से अधिक डिजिटल प्रोडक्ट कवरेज - यह टेक्नोलॉजी, पैसों से जुड़े लेनदेनों के अलावा कई अन्य जगहों पर इस्तेमाल हो सकती है। इंश्योरेंस, निवेश, इत्यादि जैसे अन्य डिजिटल उत्पादों से निपटने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे सिर्फ डेटा की सुरक्षा बढ़ाने में ही मदद नहीं मिलेगी बल्कि यह लागत भी कम कर सकता है और प्रोसेसिंग समय भी बचा सकता है।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की चुनौतियाँ 

ब्लॉकचेन एक नए जमाने की टेक्नोलॉजी है जो कई अन्य सिस्टमों की तुलना में कई गुना अधिक फायदेमंद है लेकिन अनुपालन, प्रवर्तन और नियामक सम्बन्धी समस्याओं की दृष्टि से इसमें कई तरह की चुनौतियाँ भी हैं जैसे बैंक केवाईसी प्रक्रिया को कैसे पूरा करेंगे और काले धन को वैध बनाने की कोशिश पर लगाम लगाने के लिए बने क़ानून का पालन कैसे करेंगे।


Conclusion

तो दोस्तों मैंने इस पोस्ट में सबसे आसान और सीधे तरीके से समझने का प्रयास किया की " ब्लॉकचेन क्या हैं " ब्लॉक चैन के टेक्नोलॉजी आ जाने से हम लोग और हमारी दुनिया किस तरह प्रभावित होगी ! कैसी लगी ये पोस्ट आप हमें कमेंट में जरूर बताएं , और हाँ आपलोगो को किस तरह का पोस्ट पसंद हैं हमें आप ओपिनियन जरूर दें ताकि आपलोगो का पसंददीदा पोस्ट लगातार लाता रहूं ! अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ! धन्यवाद