Google Analytics में जब आप Audience overview देखते हैं तो आपको अपनी site का Bounce Rate भी show होता है इसके अलावा जब आप अपनी site का Alexa Rank check करोगे तो आप Bounce Rate भी देख सकते हो अगर आपकी website का Bounce Rate ज्यादा है तो आपको इसे कम करने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि इसका ज्यादा होना आपकी site के लिए ठीक नहीं होता है

bounce rate kya hai aur kaise thik kare
bounce rate kya hai aur kaise thik kare

दोस्तों अगर आप Blogger हैं तो Bounce Rate के बारे में थोड़ा बहुत तो जानते ही होंगे लेकिन अगर आप नहीं जानते हैं इसके बारे में नहीं जानते हैं तो इस Article को जरूर पढ़िए इस Post में हमने Bounce Rate के बारे में पूरी जानकारी share की है और इसको कम करने का तरीका भी बताया है.


अनुक्रम ---------
Bounce Rate क्या हैं ?
Bounce Rate कैसे चेक करें ??
क्या कारण हो सकते हैं High Bounce Rate के
कितना होना चाहिए Bounce Rate ??
Bounce Rate कैसे कम करे
Conclusion




Bounce Rate क्या हैं ?

जब एक visitor आपके website में आता है और एक page मतलब entrance page को Visit करता है और वो उसके बाद वापस चला जाता है, तो इसीको Bounce बोला जाता है. लेकिन Bounce Rate का मतलब है ये उन visitors का percentage है जो की आपके page पे आते हैं और कोई दुसरे page पे click किये बिना ही वापस चले जाते हैं.


इसका ये मतलब है की visitors आये और तुरंत वापस चले गए बिना किसी दुसरे page को खोले या आपके article को बिना पढ़े ही. लेकिन अगर ऐसा हो रहा है तो इससे ये साबित हो रहा की आपकी site के Post इतने Interesting नहीं है या फिर आप इसमें ज्यादा value नहीं दाल रहे हैं. इसके अलावा ये भी हो सकता है की इसकी design भी कुछ ख़ास नहीं है, heading भी attractive नहीं है. अगर Bounce Rate ज्यादा होगा तो आपको समझ जाना चाहिए की आपके site के visitors कम हो रहे है और अगर visitor कम हुए तो rank में कमी आएगी और finally income भी कम होगा !



Bounce Rate कैसे चेक करें ??

Internet पर कई Sites Available हैं जहाँ Bounce Rate Check किया जा सकता है. लेकिन इन सब में से Google Analytic और Alexa दो ज्यादा अच्छा है. एक नए Blogger के लिए बहुत जरुरी है Bounce Rate जानना जिससे According to Bounce Rate Site में सुधर कर सकें,लेकिन अगर आप फ्री में चेक करना चाहते हैं और अभी तक आपने अलेक्सा ज्वाइन नहीं किया है तो आप गूगल के द्वारा दिया गया गूगल अनलिस्टिक्स पर चेक कर सकते है


1. Google Analystics की मदद से  - Daily, Monthly या Weekly जैसे भी चाहो आप Traffic Record Check कर सकते हैं सभी Option में Bounce rate भी दिखता है. इसके लिए Blog का Analytics से connect होना बहुत जरूरी है


2. Alexa की मदद से  - Alexa की मदद से Check करने के लिए www.alexa.com/siteinfo को Open करें या यहाँ Click करें. Search Box में domain address type कर Find Button Press करें. यह Website का सभी Details बताता है
  • Alexa Rank
  • Audience Geography
  • Engagement (Engagement, Daily Page Views Per Visitor and daily time on site)
  • Top Keyword from Search Engine
  • Total sites linking in
  • Related Sites


High Bounce Rate के कारण

High Bounce Rate Website या Blog के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं. Bounce rate कम होने का मतलब User site के कई Page को Open करता है. इसके कई कारण हो सकते हैं जिनमे से कुछ मैं आपके साथ Share कर रहा हूँ

  • Site Speed : इसका मतलब है Particular Site कितने समय में open ओ रहा है. Site Open होने में ज्यादा time लगता है तो Readers का Response अच्छा नहीं मिलेगा.
  • Site Design : वैसे तो Design का कोई ज्यादा Value नहीं है लेकिन Font, Font Size, Image Placement, Background यह सब Readers के लिए Comfortable न हो, Site Mobile Responsive न हो तो Bounce Rate High होना स्वाभाविक है.
  • High Quality Content : High Quality Content की कमीं से भी Bounce Rate ज्यादा हो जाता है.
  • Low Quality Content : 3000 Word के Content में User के लिए helpful कुछ भी नहीं मिला तो Content बेकार. साथ ही Title के according Post नहीं लिखा होने से भी बुरा असर पड़ता है.
  • Single Page Site : Blog के Post में किसी दुसरे Post का Link नहीं है. ऐसे में User Next Page पर Visit करेंगे इसका संभावनाम है.
  • Copy Paste Content : Copy Paste Content का कोई Value नहीं है. Readers को भी समझ आता है यह Content किसी और Website से लिया गया है.
  • Blog Post Writing Format : एक Standard Writing Format को Follow न करना भी गलत बात है. सही Format use नहीं करने पर Readers को पूरा Post पढने के बाद भी कुछ समझ नहीं आता और आगे से वो Site Visit नहीं करना चाहता है.
  • Bad or No Interlinking : Blog Post में दुसरे post का Link न होना या गलत तरीके से होना



कितना होना चाहिए Bounce Rate ??

दोस्तों आपकी website का Bounce Rate जितना कम होगा उतना ही आपके लिए अच्छा है World में बहुत कम websites है जिनका Bounce Rate 1% – 10% है ऐसा सिर्फ successful websites का होता है एक Average website का Bounce Rate 35% – 45% होना चाहिए अगर आपकी website का Bounce Rate इससे ज्यादा है तो आपको इसे कम करने की कोशिश करनी चाहिए !



और पढ़ें ----





Bounce Rate कैसे कम करे

अगर आपके ब्लॉग पर बहुत ज्यादा बाउंस रेट है तो आपको हर हाल में उसे कम करना है , साथ साथ ही अगर आपके ब्लॉग पर एवरेज 50% भी है तो भी लगातार आपको उसे कम करने के कोशिश करते रहना चाहिए ! आपको मैं निचे कुछ टॉपिक बता रहा हूँ जिसके मदद से आप बाउंस रेट कम कर सकते हैं


  • Contenet Optimization : Blog और Website को Optimize करने से पहले अपने Blog Traffic और Content को Optimize करना बहुत जरूरी है। उदाहरण के लिए यदि आपका Blog या Website Post ब्लॉग्गिंग के बारे में है और आपके Blog और website पर आ रहा है तो वह traffic आपके webpage पर रुके बिना वापिस चला जाता है जिससे WebSite की Bounce rate बढ़ती है ! 
  • Site Speed : इसका मतलब है Particular Site कितने समय में open हो रहा है. Site Open होने में ज्यादा time लगता है तो इसे Reduce करें. Site कम समय में Open होगा तो Readers का Response अच्छा मिलेगा !
  • Low Quality Content : ऐसा कोई जरूरी नहीं है कि 3000 Word का Content बहुत अच्छा होता है. Content हमेशा User और Search Engine दोनों के Friendly होना चाहिए. जो Title हो उसी के According Post लिखें. Readers को कभी भी manipulate नहीं करें. ऐसे में आप अपनी Credibility खो देंगे. Blogging Journey में नाम बनाने के लिए Credible बनना बहुत जरूरी है. Copy Paste Content भी Low Quality Content के अन्दर आता है. हमेशा ऐसे Content लिखें जो User को पसंद आये.
  • Copy Paste Content : Content का Copy Paste बिलकुल न करें. साथ ही कोशिश करें Writing Style भी न मिले. ऐसा होने से Credibility Create नहीं हो पता है. हमेशा Unique Content लिखने का प्रयास करें. Unique Content लिखने से Reader के साथ साथ Search Engine को भी अच्छा लगता है
  • Single Page Site : Blog के Post में किसी दुसरे Post का Link नहीं है. ऐसे में User Next Page पर Visit करेंगे इसका संभावना बहुत ज्यादा है. ऐसे मेंरूरी है Page / Post के अन्दर Interested / Evergreen Post के Link को Share करें
  • InterLinking : Blog Post में Inbound Link का Use करें. Post में Unknown Word Use करने पर Next Post में उसे Describe करें और पहले वाले Post के Unknown Word में Link करें. Post जिस Category का है उस से ही मिलता जुलता Post का Link Post के बीच में डाले. ऐसा करने से कुछ Reader उस Link पर भी Click करते हैं. कुछ ऐसे Link भी Share कर सकते हैं जो Interested हो. Google Analytics में Check करें किस Post को सबसे ज्यादा पढ़ा जा रहा है, उस Post के बीच में Link लगायें. ध्यान रहे Interested Topic का ही Link लगायें
Read Also :-



Conclusion

तो दोस्तों , शायद अब आप लोग समझ गए होंगे की " Bounce Rate क्या हैं और कैसे ठीक करें ?? " अगर आपको ये पोस्ट यूजफुल लगी हो तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज़्याद शेयर करें ताकि ये पोस्ट ज्याद ऐसे ज्यादा लोगो की मदद कर सके ! धन्यवाद
bounce rate kya hai, bounce rate kaise kam kare, baunce rate se kya hota hai, bounce rate ko kaise deke, bounce rate kaise check kare